News

दृढ़निश्चय के साथ लक्ष्य की ओर आगे बढ़े विद्यार्थी-कटारिया

फतह स्कूल में विद्यार्थियों को बैग वितरित

विद्यार्थियों को चाहिए कि वे अपने भविष्य का लक्ष्य निर्धारित कर दृढ़निश्चय के साथ उसे प्राप्त करने में जुटे। अंबेडकर से प्रेरणा ले एवं चुनौतियों से नहीं घबराएं। यह बात शुक्रवार को फतह स्कूल में वाटिका एवं रसायन विज्ञान प्रयोगशाला उद्घाटन एवं विद्यार्थियों को बैग वितरण कार्यक्रम के दौरान गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कही।

कार्यक्रम के दौरान कटारिया ने कहा कि डाॅ. भीमराव अंबेडकर के सामने कई प्रकार की चुनौतियां आई लेकिन उन्होंने अपनी प्रखर बुद्धि के साथ उनका सामना किया एवं अपने लक्ष्य को प्राप्त करके रहे। विद्यार्थियों को उनके प्रेरणा लेकर अपने जीवन में आगे बढ़ना चाहिए। इससे पूर्व उन्होंने विद्यालय परिसर में नव विकसित वाटिका एवं रसायन विज्ञान प्रयोगशाला का फीता काटकर एवं पट्टिका अनावरण कर उद्घाटन किया। कार्यक्रम में मेयर चन्द्रसिंह कोठारी, क्षेत्रीय पार्षद राकेश पोरवाल, पूर्व मेयर श्रीमती रजनी डांगी, समाजसेवी प्रमोद सामर, दिनेश भट्ट, विद्यालय प्रधानाचार्य रूचिका माहेश्वरी सहित अन्य गणमान्य लोग एवं विद्यार्थी मौजूद थे।

विद्यालय विकास निधि से निःशुल्क बैग वितरण

गृहमंत्री कटारिया ने कार्यक्रम के दौरान प्रतिभावान विद्यार्थियों को सम्मानित किया एवं विद्यार्थियों को निःशुल्क बैग वितरित किए। साथ ही चैकसी संस्था की ओर से उपलब्ध कराई गई निःशुल्क स्टेशनरी का वितरण भी किया। गौरतलब है कि विद्यालय प्रशासन ने इस बार विद्यालय विकास निधि से सभी विद्यार्थियों को निःशुल्क बैग वितरण करने का निर्णय लिया था।

विशेष मद से कटारिया देंगे मदद

कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में गृहमंत्री ने कहा कि ऐसे जरूरतमंद विद्यार्थी जिन्हें किसी भी सरकारी योजना के तहत कोई मदद नहीं मिलती है उन्हें वे विशेष मद से अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराएंगे। ऐसे विद्यार्थियों की सूची उपलब्ध कराने हेतु संस्था प्रधान को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मंत्रियों के लिए दो  लाख रुपये विशेष मद का प्रावधान है जिसमें से वे अध्ययन सामग्री हेतु जरूरतमंदों को प्रदान कर सकते है।

विश्व युवा कौशल दिवस पर हुए आयोजन

 

उदयपुर, 15 जुलाई। विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम के तत्वधान में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। 

आरएसएलडीसी की जिला प्रबंधक इरम खान ने बताया कि निगम के कौशल प्रक्षिशण केन्द्र - नीफा, आइसेक्ट, एजीस मास, इन्फोटेक एमीटी व ऑल गलोबल में प्रक्षिशण ले रहे 250 प्रक्षिशणार्थियों ने इन कार्यक्रमों में भाग लिया। इस अवसर पर नृत्य, कुर्सी रेस, देशभक्ति-गीत प्रतियोगिता आदि आयोजित की गई। जागरूकता रैली का आयोजन भी इस मौके पर किया गया। विजेता प्रक्षिशणार्थियों को जिला रोजगार अधिकार श्री पेमाराम ने पुरस्कृत किया गया। कौशल प्रक्षिशण केन्द्र के सम्सत स्टाफ उपस्थित रहा।

युवा आइकाॅन एवं प्रेरणादायक पुरस्कारों के लिए आॅनलाइन आवेदन 31 तक

युवा एवं खेल विभाग के राजस्थान युवा बोर्ड की ओर से विविध क्षेत्रों में प्रतिभाशाली युवाओं को उत्कृष्ठ प्रदर्शन को प्रोत्साहन देने को लेकर युवा आइकन पुरस्कारों के लिए 31 जुलाई तक आवेदनमांगे गए हैं।

बोर्ड द्वारा जारी सूचनानुसार कला एवं संस्कृति, मीडिया में उत्कृष्टता, फैशन डिजाइनिंग व ब्यूटी कल्चर, खेल, शिक्षा, कृषि, पर्यावरण, उद्यमिता, नवाचार व राज्य के विकास में भागीदारी, महिला सशक्तिकरणस्वच्छता के क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले युवा आवेदन कर सकते है। एक अप्रैल 2018 को 15 से 29 वर्ष के मध्य आयु के राजस्थान के मूल निवासी युवा आवेदन के पात्र होंगे। आॅनलाइन आवेदन डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डाॅटराजस्थान यूथ बोर्ड डाॅट काॅम पर किए जा सकंेगे।

“एक सार्थक कल की शुरुआत परिवार नियोजन के साथ“  कार्यक्रम

उदयपुर,11 जुलाई/ विश्व जनसंख्या दिवस के उपलक्ष्य में बुधवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिला एंव ब्लाॅक स्तर पर “एक सार्थक कल की शुरूआत परिवार नियोजन के साथ“ विषय परकार्यक्रम आयोजित किया गया।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चैधरी ने की। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. संजीव टांक ने विभागीय गतिविधियों एवं उपलब्धियों के बारे में अवगत कराया। अतिरिक्त मुख्यचिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. रागिनी अग्रवाल द्वारा परिवार कल्याण कार्यक्रम की उपलब्धियों एवं जनसंख्या पखवाड़े के तहत जिले में आयोजित किए जाने वाले पुरूष एवं महिला नसबंदी शिविर की जानकारी देते हुएशत-प्रतिशत लक्ष्य अर्जित करने हेतु कहा गया। समारोह में जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल, विशिष्ट अतिथि गुणवंत सिंह झाला, गिर्वा प्रधान तख्तसिंह शक्तावत, प्रमोद सामर, डाॅ. मंजू अग्रवाल, संयुक्त निदेशक चिकित्साएवं स्वास्थ्य अधिकारी जोन उदयपुर उपस्थित थे। वक्ताओं ने जनसंख्या वृद्धि में रोकथाम के संबंध में जनता में जागरूकता लाने पर जोर दिया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. राजेश भराड़िया ने किया।

राज्य में जनसंख्या स्थायित्व एवं जनसंख्या वृद्धि दर में कमी लाने व परिवार कल्याण को गुणवत्तापूर्ण सेवाएं सुलभ करवाने के उद्देश्य से भारत सरकार के निर्देशानुसार चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याणविभाग, उदयपुर की ओर से विश्व जनसंख्या दिवस का आयोजन बीएन के कुंभा संभागार में बुधवार को किया गया। इस अवसर पर परिवार कल्याण कार्यक्रम में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली ग्राम पंचायतों को एक-एक लाख केचैक, श्रेष्ठ संस्थान को 50 हजार रुपये तथा उत्कृष्ठ कार्य करने पर प्रसाविकाओं को क्रमशः 3100 व 2100 की राशि पुरस्कार स्वरूप प्रदान की गई। उदयपुर जिले में अनूठी पहल करते हुए जिले में लगभग 150 महिलास्वास्थ्यदर्शिकाओं का सम्मान पाग पहनाकर किया गया और उन्हे अंतरा राज साॅफ्टवेयर व जिला स्कोर कार्ड रैंकिंग पर प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

विश्व जनसंख्या दिवस पर जनचेतना रैली

उदयपुर,11 जुलाई/ राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड मण्डल मुख्यालय एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर जनचेतना रैली का आयोजनस्काउट गाइड शिविर केन्द्र उदयनिवास से ग्राम लक्कड़वास तक किया गया।

रैली को जिला मजिटेªट लोकेश भगोरा, रूपेन्द्र चैहान, सुधीर चैहान एवं सहायक राज्य संगठन आयुक्त (स्काउट) मानमहेन्द्रसिंह भाटी ने हरि झण्डी दिखाकर रवाना किया। 167 स्काउट गाइड रोवर रेंजर ने जनसंख्यारोकने हेतु जनसंख्या पर रोक लगाओ विकास की धार बढ़ाओ, सुखी जिन्दगी का आधार, छोटा और स्वस्थ परिवार, कम बच्चे छोटा परिवार, यही है प्रगति का आधार, छोटा परिवार-सुखी परिवार जैसे प्रेरक नारे लगाते हुऐ आमनागरिकों को प्रेरित किया।

जिला मजिट्रट श्री भगोरा ने कहा कि विश्व जनसंख्या दिवस, विश्व आबादी से जुड़े मुद्दों और जागरूकता को लेकर मनाया जाता है। विश्व जनसंख्या दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य वैश्विक जनंसख्या मुद्दो के बारेमें जागरूकता फैलाना है लोगों को परिवार नियोजन, स्वास्थ्य, गरीबी के महत्व जैस विभिन्न मुद्दों से अवगत होना चाहिये। जिला मजिट्रेट रूपेन्द्र चैहान एवं सुधीर चैहान ने जनसंख्या संतुलन और बढ़ती आबादी के बारे मेंजागरूकता के संबंध में विचार रखे। अतिथियों का स्वागत सीओ स्काउट अनिल गुप्ता व आभार मानमहेन्द्रसिंह भाटी, ने जताया। रैली का संचालन सीओ बांसवाड़ा दीपेश शर्मा ने किया। इस अवसर पर फूलचंद पारगी, राकेशटांक, डा श्रीराम आर्य, मोहनलाल गर्ग, रेखा वैष्णव आदि स्काउटर गाइडर उपस्थित थे।

जिला स्तरीय जनसुनवाई 12 को

उदयपुर,11 जुलाईजिला स्तरीय जनसुनवाई माह के दूसरे गुरुवार,12 जुलाई की सुबह 10.30 बजे जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक की अध्यक्षता में राजस्थान सम्पर्क आईटी केन्द्र में रखी गई है। अतिरिक्त जिलाकलक्टर (प्रशासन) सी.आर.देवासी ने जिले के समस्त विभागीय अधिकारियों को तय समयावधि में राजस्थान सम्पर्क पोर्टल व सीएम हेल्पलाइन 181 पर अपने विभाग से संबंधित परिवादों की प्रगति के साथ उपस्थित रहने केनिर्देश दिए हैं।

विभिन्न स्थानों पर विधिक साक्षरता जागरूकता कार्यक्रम

उदयपुर,11 जुलाई/ राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के साझे में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष सुश्री प्रभा शर्मा के निर्देशानुसार विश्व जनसंख्या दिवस पर उदयपुर के राजकीय बालिका उच्चमाध्यमिक विद्यालय रेजीडेन्सी, भारत स्काउट मण्डल प्रशिक्षण केन्द्र उदयनिवास लकड़वास, राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय बलीचा, हाथीपोल चैराहा, राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय अम्बामाता,ग्राम पंचायत नाई, सविना बस्ती में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किये गए। प्राधिकरण की पूर्णकालिक सचिव श्रीमती रिद्धिमा शर्मा, सहित सुश्री सीमा सांधु, सुश्री ममता, श्रीमती कृष्णा राकेश कानावत, धीरज शर्मा,नुकेश भगोरा, रूपेन्द्र चैहान, सुधीर चैहान, सुश्री रेणु मोटवानी, सुश्री मनीषा चैधरी आदि ने विभिन्न कानूनी प्रावधानों एवं एक्ट की जानकारी दी। श्रीमती शर्मा ने रेजीडेंसी स्कूल में बालिकाओं को उनके अधिकारों की जानकारीके साथ उनके विरूद्ध हो रहे अपराधों को रोकने के उपाय भी बताए। विश्व जनसंख्या दिवस के उपलक्ष्य में रेजीडेंसी स्कूल एवं भारत स्काउट गाईड द्वारा जागरूकता रैली का भी आयोजन किया गया। शिविर में स्कूल केअध्यापकगण, अभिभावकगण, छात्र-छात्राओं एवं अन्य लोगो को विश्व जनसंख्या दिवस के बारे मे जानकारी प्रदान करने के साथ विधिक अधिकारो की जानकारी दी गई।

बाघदर्रा नेचर पार्क में केम्पिंग साइट एवं केफेटेरिया का उद्घाटन 13 को

गृहमंत्री कटारिया होंगे मुख्य अतिथि

उदयपुर,11 जुलाई/ उदयपुर के बाघदर्रा नेचर पार्क में ’’ग्रीनिंग उदयपुर’’ कार्यक्रम के तहत वृहद् वृक्षारोपण कार्य का शुभारंभ एवं नवनिर्मित कैम्पिंग साईट व केफेटेरिया का उद्घाटन 13 जुलाई को सायं 4 बजेगृहमंत्री गुलाबचन्द कटारिया के मुख्य आतिथ्य में होगा।

उप वन संरक्षक (वन्यजीव) ने बताया कि ग्रीनिंग उदयपुर कार्यक्रम के तहत बाघदर्रा नेचर पार्क में एक हजार बड़ी साईज के पौधे रोपित किये जा रहे हंै। नवनिर्मित कैम्पिंग साईट के संचालन होने से पारिस्थितिकीयपर्यटकों एव प्रकृतिपे्रमियों को एक रोमांचकारी पर्यटक स्थल उपलब्ध हो सकेगा साथ ही पर्यटक रात्रि में बाघदर्रा के सुरम्य जंगलों के बीच में रात्रि विश्राम कर सकेंगे। जहां पर वे वन्यप्राणियों के स्वच्छंद विचरण को उनकेप्राकृतिक आवास में निहार सकेंगे। केम्पिंग साईट के नजदीक ही स्थापित की गई रोमांचकारी एव साहसिक रिक्रिएशनल एक्टीविटीज का पर्यटक भरपूर आनंद उठा सकेंगे। बाघदर्रा नेचरपार्क में पर्यटकों को खानपान की सुविधाउपलब्ध कराने की दृष्टि से केफेटेरिया का निर्माण किया गया है।

 विविध स्कूलों में लगे विधिक साक्षरता शिविर 

 

उदयपुर, 7 जुलाई/ सुश्री प्रभा शर्मा, अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उदयपुर ने समाचार पत्रों में बच्चों के विरूद्ध अपराधों के संबध में प्रकाशित खबर पर संज्ञान लेते हुए उदयपुर मुख्यालय के न्यायिक अधिकारीगण को निर्देश प्रदान किये कि वे सरकारी व गैर सरकारी स्कूल, कॉलेज एवं अन्य स्थानों पर बच्चों के विस्द्ध लैगिंग अपराधों एवं अन्य अपराधो को रोकने के लिए विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन करें।

निर्देशों की पालना में सुश्री सुभ्रा शर्मा, न्यायिक मजिस्ट्रेट, उत्तर 2, श्रीमती कृष्णा राकेश कानावत, न्यायिक मजिस्टेªट, दक्षिण उदयपुर एवं श्रीमती रिद्धिमा शर्मा, पूर्णकालिक सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, उदयपुर द्वारा राजकीय बालिक उच्च माध्यमिक विद्यालय, हिरण मगरी सेक्टर न.4 में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन कर 200 स्कूली बालिकाओं को कानूनी जानकारियां दी । 

इसी क्रम में सुश्री ज्योति शर्मा, न्यायिक मजिस्टेªट दक्षिण-1, उदयपुर, श्रीमती ममता मीना, विशिष्ठ न्यायिक मजिस्टेट एन.आई.एक्ट 5 उदयपुर एवं श्रीमती रिद्धिमा शर्मा, पूर्णकालिक सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, उदयपुर ने सोफिया उच्च माध्यमिक विद्यालय, दक्षिणी सुन्दरवास में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया जिसमें 200 स्कूली बच्चो को कानूनी जानकारियां दी गई । सोफिया स्कूल में रिटेनर अधिवक्ता संदीप दाद्यीच एवं संस्था प्रधान आशुतोष दाद्यीच के साथ अन्य अध्यापकगण भी शिविर में उपस्थित रहे । 

श्रीमती रिद्धिमा शर्मा, पूर्णकालिक सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उदयपुर ने बताया की  विधिक साक्षरता शिविर में स्कूली बालिकाओं को बच्चों के विस्द्ध लैंगिक अपराधों एवं अन्य अपराधो को रोकने की जानकारी के अतिरिक्त एन्टी रैगिंग, बाल विवाह रोको, पॉलीथीन निषेध, बालको के अधिकार, एसिड अटैक पीडि़तों को प्राप्त अधिकार, पोक्सो एक्ट, सडक सुरक्षा, जे.जे. एक्ट,  निः शुल्क विधिक सहायता आदि विषयों पर जानकारी प्रदान की गई । 

----

पन्नाधाय चिकित्सालय के रोगियों के लिये किये वैकल्पिक उपाय

उदयपुर, 7 जुलाई/जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक के सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ पन्नाधाय राजकीय महिला चिकित्सालय उदयपुर के निरीक्षण उपरांत प्रदत्त निर्देशानुसार आरएनटी मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. डी.पी. सिंह की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिसमें प्रशासनिक अधिकारी, समस्त विभागाध्यक्ष एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। 

कमेटी ने चिकित्सालय भवन के मरीजों एवं अन्य सभी सुविधाओं को अन्यत्र स्थानांतरित करने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था पर चर्चा की एवं इसके लिए स्थान चिन्हित किये गये। जिसमें नवनिर्माण परीक्षा हॉल (चार मंजिला), सेटेलाइट हॉस्पीटल हिरण मगरी से. 6, महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय में एक ऑपरेशन थियेटर एवं वार्ड नम्बर 11 डी के साथ ही पन्नाधाय चिकित्सालय के पिछला हिस्सा कोटेज वार्ड एवं पूर्व सेप्टीक लेबर रूम का भूतल एवं प्रथम तल चिन्हित किया गया ओपीडी एवं रजिस्टेªशन कार्य वर्तमान एंटीनेटल ब्लॉक में शिफ्ट किया जावेगा। 

कमेटी ने पन्नाधाय राजकीय महिला चिकित्सालय की समस्त जाँचें (लेबोरेट्री, एक्स-से, सोनोग्राफी इत्यादि ) महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय में करने हेतु सहमति प्रदान की। मदर मिल्क बैंक को अस्थाई तौर पर विभागाध्यक्ष शिशु रोग ने बाल चिकित्सालय में जगह उपलब्ध कराने हेतु सहमति व्यक्त की। बैठक में प्रधानाचार्य एवं नियन्त्रक डॉ. डी.पी. सिंह ने अधीक्षक, पन्नाधाय राजकीय महिला चिकित्सालय, उदयपुर एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को आपसी समन्वय रखते हुए चिन्हित स्थान पर समयबद्ध तरीके से मरीजों एवं अन्य सभी सुविधाओं को स्थानांतरित कर निर्देश प्रदान कर समय समय पर कार्यप्रगति की जानकारी देने को भी कहा।

प्रधानमंत्री के हाथों 537 करोड़ की उदयपुर की एकीकृत आधारभूत परियोजना का शिलान्यास

 

उदयपुर, 7 जुलाई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को जयपुर में उदयपुर की वॉल सिटी की सूरत बदलने वाली 537 करोड़ रुपए लागत की एकीकृत आधारभूत परियोजना  का शिलान्यास किया। 

महापौर चन्द्रसिंह कोठारी के अनुसार गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया की सहमति से मोदी से इस कार्य के शिलान्यास का प्रस्ताव सरकार को भेजा गया था। स्मार्ट सिटी कंपनी के सीईओ सिद्धार्थ सिहाग के अनुसार वॉल सिटी के समुचित विकास के लिए 537 करोड़ रुपए का संयुक्त टेंडर तय हुआ है। उल्लेखनीय है कि स्मार्ट सिटी कंपनी की ओर से वॉल सिटी में इन बड़े कार्य के लिए एलएंडटी कंपनी से अनुबंध और अन्य प्रक्रिया पहले ही पूरी की जा चुकी है। 

वॉल सिटी में होंगे ये कार्य 

इस परियोजना के तहत उदयपुर शहर में चौबीस घंटे जलापूर्ति, बिजली व टेलीफोन के तार भूमिगत करने, सभी केबल्स के लिए डक्ट बिछाने का कार्य एवम कारगर सीवरेज सिस्टम स्थापित करना तथा सडकों का सुधार नालियों का निर्माण आदि प्रमुख कार्य शामिल हैैं।

----

 

 

मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम को लेकर बैठक

उदयपुर,05 जुलाई/ जिले में मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम के तहत शहर के समस्त निजी चिकित्सक एवं अन्य विभागीय अधिकारियों बैठक गुरुवार को स्वास्थ्य भवन बड़ी में आयोजित हुई।

बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. संजीव टाक ने नोटिफाईबल डिजिज 2016 (डेंगु, मलेरिया एवं स्वाइन फ्लू) के तहत संबंधित एक्ट की जानकारी के साथ राज्य सरकार सरकार द्वारा मलेरिया, डेंगू, स्वाइन फ्लूको नोटिफाईबल डिजिज घोषित करने संबंधि अधिसूचना के बारे में विस्तार से बताया। उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. राघवेन्द्र राय ने मौजूद प्रतिनिधियों से उनके संस्थान में उल्लेखित बिमारियों संबंधी कोई भी प्रकरणचिन्हित होने पर आवश्यक रूप से चिकित्सा विभाग को अविलम्ब सूचित करने की बात कही तथा संबंधित विभागों एवं संस्थाओं को इन बिमारियों के नियंत्रण में सहयोग का आग्रह किया।

डायबिटीज निःशुल्क जांच शनिवार को

उदयपुर 5 जुलाई/राजकीय आदर्श आयुर्वेद औषधालय सिंधी बाजार में आरोग्य दिवस के अन्तर्गत शनिवार 7 जुलाई को डायबिटीज की निःशुल्क जांच की जाएगी। डाॅ. शोभालाल औदिच्य ने बताया कि इस मौके पर वरिष्ठ नागरिक कास्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा साथ ही डायबिटीज की निःशुल्क जांच कर परामर्श दिया जायेगा।

ट्राईब पत्रिका के आलेख प्राप्ति की तिथि बढ़ाई

उदयपुर,05 जुलाई/ माणिक्यलाल वर्मा आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान, उदयपुर द्वारा प्रकाशित होने वाली शोध पत्रिका ’’ट्राईब’’ के खण्ड-50(2)वें अंक हेतु शोध आलेख आमंत्रित करने की समयावधि बढ़ाकर 11अगस्त कर दी गई है।

टीआरआई निदेशक दिनेश चन्द्र जैन ने बताया कि इस अंक में जनजातियों के जीवन वृत के विविध आयाम, विकास, संस्कृति आदि से सम्बन्धित शोधपरक लेख प्रकाशित होंगे, जिसमें जनजातीय मेले एवं त्यौहार पर शोध आलेखों कोप्राथमिकता प्रदान की जाएगी। अप्रकाशित मौलिक आलेखों को संस्थान में जमा करवाये जानेे की तिथि 11 अगस्त तक बढ़ा दी गई है। आलेख के साथ साॅफ्ट काॅपी भी जमा करानी होगी।

उदयपुर में फिर से 7 डी सिनेमा का रोमांच

चार दिन तक निःशुल्क प्रसारण आज से

उदयपुर,5 जुलाई / आमजन को सूचना तकनीक से रूबरू कराने को लेकर उदयपुर में एक बार फिर से शुक्रवार 6 जुलाई से 9 जुलाई तक सेवन डी मूवी का निःशुल्क प्रसारण नगर निगम प्रांगण में किया जाएगा। सूचना प्रौद्योगिकीएवं संचार विभाग की ओर से दिखाई जाने वाली हाईटेक मूवी में उच्च तकनीक का प्रयोग करते हुए युवाओं के साथ ही आमजन को चार दिवसीय मनोरंजन का अनूठा अनुभव होगा।

उपनिदेशक (आईटी) सुश्री शीतल अग्रवाल ने बताया कि प्रसारण स्थल पर जन सुरक्षा एवं सुविधा के मद्देनजर पुलिस, नगर विकास प्रन्यास, विद्युत, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग आदि विभागों के माध्यम से आवश्यक प्रबंध किएगए हंै। मूवी के लिए दर्शकों को पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा।

पूर्ण वातानुकूलित वैन मंे दिखाई जाएगी मूवी

सुश्री शीतल अग्रवाल ने बताया कि सेवन डी मूवी के लिए 16 सीटर की वेन पूरी तरह वातानुकूलित रहेगी। करीब 3 से 4 मिनट की एक मूवी रहेगी। मूवी सुबह 10 से शाम 6 बजे तक दिखाई जाएगी। प्रवेश के लिए आमजन को अपनी कोई भीएक आईडी साथ लानी होगी। एक व्यक्ति को एक ही बार मूवी देखने का अवसर मिलेगा।

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना 2018

कलक्टर ने निकाली जिले की लाॅटरी, 625 यात्री करेंगे रेल व हवाई यात्रा

उदयपुर,5 जुलाई/ दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थयात्रा योजना 2018 के तहत उदयपुर जिले की लाॅटरी गुरुवार की सुबह जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक ने निकाली। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला (शहर) सुभाषचन्द्र शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हर्ष रत्नू, सहायक आयुक्त (देवस्थान) जतिन गांधी, आईटी उपनिदेशक शीतल अग्रवाल, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.राघवेन्द्र राय आदि मौजूद थे।

कलक्टर ने एनआईसी केन्द्र में निर्धारित आॅनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से लाॅटरी निकालने की प्रक्रिया को पूर्ण किया। उन्होंने विभाग द्वारा पूर्व में करवाई गई तीर्थ यात्रा के बारे में अवगत कराया। कलक्टर ने बताया कि वर्ष 2018 में उदयपुरजिले में योजना के तहत कुल 2142 आवेदन प्राप्त हुए है जिसमें 3651 यात्री शामिल हंै। इसमें हवाई यात्रा के लिए 2584 तथा रेल यात्रा के लिए 1067 यात्रियों ने आवेदन किया है इसमें से जिले के 476 हवाई यात्री एवं 149 रेलयात्रियों सहित कुल625 यात्री लाभान्वित होंगे।

सहायक आयुक्त श्री गांधी ने बताया कि चयनित यात्रियों को देश के विभिन्न धार्मिक स्थलों यथा जगन्नाथपुरी, रामेश्वरम, तिरूपति, द्वारका, वैष्णोदेवी, अमृतसर, श्रवणबेलगोला, बिहारशरीफ, उज्जैन, हरिद्वार, शिरड़ी, गोवा सहित 17स्थानों की यात्रा करवाई जाएगी। प्रत्येक चयनित यात्री को उसके द्वारा भरी गई तीन प्राथमिकताओं में से एक स्थल की यात्रा का लाभ मिलेगा। योजना में पूरे राज्य से 61087 लोगों ने आवेदन किया है।

श्री गांधी ने बताया कि राज्य सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना से उदयपुर जिले में 2014 से 2017 तक कुल 2139 वरिष्ठ नागरिकों जिसमें 1780 को रेल यात्रा एवं 359 को हवाई यात्रा का लाभ प्रदान किया जा चुका है। हवाई यात्रा 2016 से प्रथमबार आरंभ की गई थी।

दायित्वों की सतत समीक्षा करें-संभागीय आयुक्त

उदयपुर,4 जुलाई/ संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा ने कहा कि प्रधानमंत्री के यात्रा कार्यक्रम में उदयपुर से जाने वाले विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को बिना किसी असुविधा एवं पूर्ण सुरक्षा इंतजामों के लिए सभी अधिकारीअपने-अपने दायित्वों की सतत समीक्षा करते हुए सफल क्रियान्विति सुनिश्चित करें।

वे प्रधानमंत्री यात्रा कार्यक्रम में उदयपुर जिले से संबंधित व्यवस्थाओं की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने सभी प्रभारी अधिकारियों से फीडबैक लेकर बेहतरीन व्यवस्थाओं को अंजाम देने की बात कही। बैठक मेंयूआईटी अध्यक्ष रवीन्द्र श्रीमाली, जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक, एसपी राजेन्द्र प्रसाद गोयल, जिला परिषद सीईओ कमर चैधरी, यूआईटी सचिव रामनिवास मेहता सहित संबंधित अधिकारियों ने व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार सेसमीक्षा की।

जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में लिए 30 वाहनों की व्यवस्था की गई है। उन्होंने आरटीओ श्री रावत को क्षेत्र की आवश्यकतानुरूप तय स्थल पर वाहन उपलब्ध कराने को कहा। सभी वाहन 6 जुलाईकी दोपहर 12 बजे तक रवानगी स्थल पर अनिवार्यतः पहुंच जाएंगे, जो अपने तय रूट अनुसार रवाना होंगे। बैठक में सीईओ श्री चैधरी ने बताया कि उदयपुर जिले के खेरवाड़ा से 1527, सलुम्बर से 1498, गोगुन्दा से 1405, झाड़ोल से 1294,वल्लभनगर से 1348, लसाड़िया से 371, मावली से 1280, उदयपुर ग्रामीण से 1441 तथा उदयपुर विधानसभा क्षेत्र में 1589 लाभार्थियों का जयपुर कार्यक्रम में जाना प्रस्तावित है।

राज्य स्तरीय फोटोग्राफी प्रतियोगिता के प्रस्ताव आमंत्रित

उदयपुर,4 जुलाई/ माणिक्यलाल वर्मा आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान, उदयपुर द्वारा राज्य स्तरीय चतुर्थ फोटोग्राफी प्रतियोगिता हेतु प्रविष्ठियां आमंत्रित की गई है।

टीआरआई निदेशक दिनेश चन्द्र जैन ने बताया कि वर्ष 2018-19 के लिए प्रतियोगिता का विषय “जनजातीय आवास“ रखा गया है, जिसमें राजस्थान राज्य में विभिन्न जनजातियों के आवास के फोटो शामिल होंगे। प्रतियोगिता मेंशौकिया फोटोग्राफर भाग ले सकते हंै। श्रेष्ठतम जनजाति फोटोग्राफर का विशेष योग्यता पुरस्कार सहित पाँच श्रेणियों में पुरस्कार दिये जायेंगे। प्रविष्ठियां केवल रंगीन छाया चित्रों के रूप में स्वीकार की जायेंगी। फोटोग्राफ भेजने की अंतिमतिथि 31 अगस्त 2018 रखी गई है। प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए किसी प्रकार का आवेदन शुल्क निर्धारित नहीं है। फाॅटोग्राफ 8 गुणा 10 इंच की साइज में दिये जा सकते है। फोटोग्राफ के साथ संक्षिप्त विवरण अधिकतम सौ शब्दों मेंसंलग्न करना होगा। किसी भी फोटोग्राफ को फ्रेम अथवा माउण्ट करा कर नहीं दिया जा सकता।

प्रधानमंत्री का जयपुर यात्रा कार्यक्रम

उदयपुर जिले से 11 हजार से अधिक लाभार्थी जाएंगे

उदयपुर,4 जुंलाई/ प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी की 7 जुलाई को जयपुर यात्रा के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शरीक होने उदयपुर जिले के 11 हजार से अधिक लाभार्थी जयपुर जायेंगे।

यह जानकारी जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक ने बुधवार को गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया, पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री राजेन्द्र राठौड़, सार्वजनिक निर्माण मंत्री यूनुस खान, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रीअरूण चतुर्वेदी, मुख्य सचिव के.बी.गुप्ता की मौजूदगी में जयपुर से ली गई वीडियो कान्फ्रेंसिंग के दौरान दी। वीसी के दौरान उदयपुर से संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा, आईजी आनंद श्रीवास्तव, एसपी राजेन्द्र प्रसाद गोयल, जिलापरिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चैधरी, अतिरिक्त जिला कलक्टर सी.आर.देवासी व सुभाष चन्द्र शर्मा, नगर विकास प्रन्यास सचिव रामनिवास मेहता, राजस्व अपील अधिकारी एल.एन.मंत्री, प्रन्यास ओएसडी ओ.पी.बुनकर,एसीईओ मुकेश कलाल, भूमि अवाप्ति अधिकारी पुष्पेन्द्र सिंह शेखावत, आरटीओ मन्नालाल रावत, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी राघवेन्द्र राय सहित अन्य महत्वपूर्ण विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

वीसी में गृहमंत्री श्री कटारिया ने जिलों से भाग लेने वाले प्रतिभागियों के परिवहन, भोजन, विश्राम, कार्यक्रम स्थल पर पहुंच व कार्यक्रम व कार्यक्रम पश्चात सुव्यवस्थित रवानगी एवं सुरक्षित वापसी के साथ ही चिकित्साव्यवस्था, पेयजल सहित अन्य महत्वपूर्ण दायित्वों के लिए पूर्ण समन्वय बनाने के निर्देश दिए। वीसी में कार्यक्रम को लेकर की गई पूर्व तैयारियों के बारे में उदयपुर सहित राज्य के सभी संभागीय आयुक्त, आईजी, जिला कलक्टर्स, एसपीआदि से विस्तार से फीडबैक लिया।

गृहमंत्री ने सभी जिलों से कहा कि उनके यहां से जयपुर पहुंचने वाले वाहनों का रवानगी स्थल, रूट चार्ट, चेक पोस्ट, रास्ते में अल्पविश्राम व समय पर कार्यक्रम स्थल पर पहुंच के लिए सभी विधायक, जनप्रतिनिधि एवंप्रशासनिक व विभागीय स्तर पर पूर्ण तालमेल स्थापित कर लिया जाए ताकि किसी भी स्तर पर व्यवस्था प्रभावित न हो। उन्होंने वाहनों की समय से रवानगी के साथ ही दल प्रभारियों को पूर्ण जिम्मेदारी के साथ सुरक्षित लाने-ले जाने कीव्यवस्था सुनिश्चित करने की बात कही।

पंचायतीराज मंत्री श्री राजेन्द्र राठौड़ ने लाभार्थियों का सत्यापन, दूरभाष आदि व्यवस्थाएं नाॅडल आॅफिसर व प्रभारी के स्तर पर कर लेने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जयपुर से लौटते वक्त पूरी संख्या होने पर ही वाहन रवानाहो। सूचना तंत्र में कोई चूक न रहे। उन्होंने रास्ते में पड़ने वाले जिलों को भी हर स्तर पर माकूल प्रबंध करने के साथ ही प्रशासनिक एवं विभागों के स्तर पर साझा तालमेल सुनिश्चित करने पर जोर दिया।

जिला कलक्टर श्री मल्लिक एवं पुलिस अधीक्षक श्री गोयल ने जिले में की जा रही विविध स्तरीय व्यवस्थाओं पर विस्तार से अवगत कराया।

मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान तृतीय चरण

सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों की कार्यषाला सम्पन

उदयपुर,4 जुलाई/ मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान्त तृतीय चरण अन्तर्गत सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों की कार्यशाला बुधवार को जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल की अध्यक्षता मे जिला परिषद् सभागार में सम्पन्न हुई।इस कार्यशाला मे उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक, जिला परिषद् के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चैधरी, अधीक्षण अभियंता जलग्रहण नोडल अधिकारी मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियानसी.एल. सालवी, विभिन्न पंचायत समितियों के प्रधानगण एवं ब्लाॅक स्तर संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

जिला प्रमुख श्री मेघवाल ने अभियान दो चरणों में कराये गये कार्यो की सराहना करते हुए सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों की सहभागिता को बढाने पर जोर दिया एवं जल संरक्षण के लिए व्यापक प्रचार प्रसार करने की बात कही।विधायक मीणा ने अभियान के दो चरणों में हुए कार्यों की सराहना करते हुए तीसरे चरण में भी पूरी गुणवत्ता एवं पारदर्शिता के साथ कार्य करने की बात कही।

सीईओ श्री चैधरी ने योजना में सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों की सहभागिता को बढाने हेतु सभी संस्थानों को प्रेरित किया एवं सभी संस्थानों से अनुरोध किया कि अपने कार्य क्षैत्र में एमजेएसए तृतीय चरण के कार्यो काअवलोकन कर अधिक से अधिक लोगो को योजना के लाभ की जानकारी देकर जन सहभागिता को बढाये एवं संस्था अपने स्तर पर भी एमजेएसए योजना में सीएसआर अन्तर्गत कार्य/गांव को गोद लिया जाकर योगदान देने हेतु आग्रह किया।

श्री सालवी ने योजना की चरणवार जानकारी देते हुए बताया कि एमजेएसए के दो चरण पूर्ण होकर तृतीय चरण में 14051 कार्यो राशि 15923.85 के लिये गये है, जिसमें से 11719 कार्य पूर्ण कराये जा चुके है। उपस्थित सामाजिक एवं धार्मिकसंगठनों में से नारायण सेवा संस्थान से राकेश शर्मा ने पूर्व में किये गये कार्यो की प्रशंषा की एवं तृतीय चरण में पूर्ण सहयोग करने का आश्वासन दिया। श्री मार्केण्ड फाउण्डेशन से विलास जानवे ने योजना की सरहाना करते हुए नाटक एवंनुक्कड नाटकों से योजना का प्रचार करने हेतु संस्था द्वारा पूर्ण योगदान देने हेतु कहा। मनु सेवा संस्थान से श्रीमती गुणमाला चेलावत द्वारा योजना में कराये जाने वाले कार्यो के गांव को गोद लेने हेतु सहमति प्रदान करी। कार्यशाला मेंएमएनसीएफ द सिटी पैलेस, जैन श्वैताम्बर महासभा, शनिमहाराज ट्रस्ट, इमेक्ट यू.एस. एनजीओ, गुरूनानक सभा संस्थान, अलंकार फाउण्डेशन, ज्ञान हैल्थ सोसायटी, मेत्रीमंथन संस्था आदि के प्रतिनिधिगण मौजूद थे।

स्टेट बैंक ने किया चिकित्सकों का सम्मान

उदयपुर,4 जुलाई/ स्टेट बैंक के 63वें स्थापना दिवस एवं चिकित्सक दिवस के अवसर पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया उदयपुर मॉड्यूल द्वारा समाज में उच्च स्तर की सेवाएँ प्रदान करने वाले चिकित्सकों को विशेष कार्यक्रम आयोजित करसम्मानित किया गया। मेडिकल प्रेक्टिश्नर सोसायटी से करीब 70 चिकित्सकों ने इस कार्यक्रम में शिरकत की। समारोह की अध्यक्षयता मेडिकल प्रेक्टिश्नर सोसायटी के अध्यक्ष डॉक्टर सालेह मोहम्मद कागजी ने की वहीं मुख्य अतिथिमेडिकल प्रेक्टिश्नर सोसायटी के सचिव डॉक्टर क्षितिज मुर्डिया रहे।

चिकित्सा के क्षेत्र में विशिष्ट सेवाएँ प्रदान करने हेतू स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा, उदयपुर मॉड्यूल के उप महाप्रबंधक एस.विजय कुमार के करकमलों से डॉक्टर डी पी अग्रवाल, डॉक्टर जेहरा अब्बास एवं डॉक्टर पोरवाल को सम्मानित कियागया। इस अवसर पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा विशिष्ट प्रस्तुतिकरणों के माध्यम से चिकित्सकों हेतू लाभकारी, बैंक के उत्पादों का विवरण दिया गया। उपस्थित चिकित्सकों द्वारा भी बड़े जोर शोर से  उक्त प्रस्तुतिकरणों के दौरान भागलिया गया एवं विभिन्न प्रश्न पूछे गए, जिनका संबन्धित अधिकारियों द्वारा उचित जवाब दिया गया। साथ ही चिकित्सकों नें अत्यंत उत्साहपूर्वक अपने स्टेट बैंक के साथ के अनुभव साझा किए। इस अवसर पर स्टेट बैंक क्षेत्र प्रथम केक्षेत्रीय प्रबंधक श्री मुकेश द्विवेदी, सहायक महाप्रबंधक एस एल मारू, संजय अग्रवाल एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती आस्था एवं धर्मवीर भाटिया ने किया।

ई- मित्र को जीएसटी सुविधा केंद्रों में परिवर्तित किया जा रहा है - वित्त सचिव प्रवीण गुप्ता

अग्रणी टैक्स एडवोकेट और जीएसटी विशेषज्ञों ने अनुभव साझा किए

उदयपुर,4 जुलाई/ भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने वित्त एंव वाणिज्यिक कर विभाग, राजस्थान सरकार और उदयपुर चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (यूसीसीआई) के सहयोग से बुधवार को उदयपुर में जीएसटी, ई-वेबिल, जॉब वर्क इत्यादि पर इंटरएक्टिव सत्र आयोजित किया। जीएसटी के फायदों की जानकारी देते हुए राजस्थान सरकार के सचिव-वित्त (राजस्व) प्रवीण गुप्ता ने कहा कि हम आर्थिक परिवर्तन के चरण में हैं और राजकोषीय सुधार के लिएउपाय किए गए हैं। उच्च विकास दर हासिल करने के लिए, हमें पारदर्शी और स्वच्छ अर्थव्यवस्था और जीएसटी की आवश्यकता है। इसके साथ ई-वे बिल इस दिशा में उठाया गया कदम है। उन्होंने यह भी कहा कि जीएसटी भारतीय आर्थिकसुधारों के लिए एक मील का पत्थर साबित हुआ है।

ई-वे बिल सिस्टम की स्वीकृति के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करते हुए श्री गुप्ता ने कहा, ई-वे बिलों की बड़ी संख्या पहले ही तैयार हो चुकी है और यह वास्तव में एक अच्छा संकेत है। हमें हितधारकों का समर्थन देखकर प्रसन्नता होरही है। उन्होंने यह भी बताया कि इंट्रा-स्टेट ई-वे बिल सिस्टम भी पेश किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि ई-वे विधेयक व्यापारियों के लिए उपयोगी और पारदर्शी साबित होगा। सचिव-वित्त (राजस्व) ने यह भी कहा कि यह कर सुधार कासमय है और हम उन समाधानों पर काम कर रहे हैं जो सुझाव और प्रतिक्रियाओं के रूप में प्राप्त हुए हैं।

सीआईआई अध्यक्ष अनिल साबू ने कहा कि जीएसटी कराधान की एक एकीकृत योजना है जो माल और सेवाओं के बीच अंतर नहीं करती है। यह प्रतिस्पर्धात्मकता में सुधार करेगी, भारतीय निर्यात को बढ़ावा देगा और निर्माताओं व निर्यातकोंको लाभ होगा। 1947 में देश का भौतिक संघ बना थाय 2017 में जीएसटी को अपनाकर देश का आर्थिक संघ बना है। जीएसटी अब 1 साल पर एक वर्ष पूरा कर चुका है। 1 जुलाई 2017 (यानी एक वर्ष पहले) माल और सेवा कर (जीएसटी) कीशुरूआत, भारत का सबसे बड़ा अप्रत्यक्ष कर सुधार, बाधाओं पर त्वरित प्रतिक्रिया के चलते अपेक्षाकृत सरल रहा है। शुरुआती बाधाओं के बाद अब व्यवसाय स्थापित हो गए हैं। अंतरराज्यीय बाधाओं को खत्म करने और ई-वे बिल प्रणाली केकार्यान्वयन के साथ, परिवहन और लाजिस्टक अधिक प्रतिस्पर्धी और कम महंगे हो गए हैं। इस मौलिक कर का प्रभाव अब उद्यमों, व्यापक कर आधार और उच्च कर राजस्व के औपचारिकरण में महसूस किया जा रहा है। उन्होंने यह भीकहा कि सरकार 1 से 7 जुलाई 2018 तक जीएसटी सप्ताह मना रही है।

राजस्थान सरकार के वाणिज्यिक कर आयुक्त श्री आलोक गुप्ता ने अपने संबोधन में कहा कि 1991 के आर्थिक सुधारों के बाद, जीएसटी देश में सबसे बड़ा सुधार है। उन्होंने यह भी कहा कि उद्योगपति, व्यापारियों और सेवाप्रदाताओं को जीएसटी से डरने की पूरी आवश्यकता नहीं थी। जब अर्थव्यवस्था का रूप बदलता है, कर संरचना भी बदल जाती है। जीएसटी करों की बहुतायत की बजाय टैक्स का एक रूप सुनिश्चित करेगा। शायद यह कर प्रणाली का सबसेमजबूत रूप है। श्री आलोक गुप्ता ने यह भी कहा कि चिंता या संदेह की कोई आवश्यकता नहीं है।  राज्य सरकार ने पहले ही राजस्थान में प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की हैं और यह काम लगातार जारी है। यदि कोई प्रश्न या संदेह हैं तोउन्हें तुरंत स्पष्टीकरण के लिए संपर्क करना चाहिए।

सत्र के दौरान, जयपुर के प्रतिष्ठित विशेषज्ञ पंकज घिया ने ई-वे विधेयक के संबंध में कई अहम मुद्दों पर दर्शकों को जागरूक किया, जैसे कि ई-वे बिल की आवश्यकता क्यों है, यह कब लागू होगा, कब इसकी आवश्यकता नहीं होगी, ई-वेबिल तैयार करना, किलोमीटर नियम, जाब वर्क और अन्य महत्वपूर्ण पहलुओं की जानकारी।

विशेषज्ञों ने यह भी बताया कि जीएसटी ने व्यवसायी की व्यावसायिक प्रक्रिया को सरल बना दिया है और ई-वे बिल कर सुधार की दिशा में एक उज्ज्वल कदम है।

         केंद्रीय उत्पाद शुल्क और सेवा कर विभाग के आयुक्त श्री सी के जैन ने कहा कि जीएसटी को सही रूप में  गेम-चेंजर कहा जा सकता है। हालांकि, जीएसटी को रहस्यमयी न रहे क्योंकि यह लोगों को डरा रहा है। यह केवल उन लोगोंके लिए जटिल होगा जो अपने सामान और सेवाओं के लिए खाता नहीं रखते हैं। श्री जैन ने आगे कहा कि नई कर प्रणाली पूरे देश में एक समान होगी और एक मजबूत अनुपालन प्रणाली का स्थान लेगी।

सीआईआई राजस्थान राज्य कार्यालय के निदेशक और प्रमुख श्री नितिन गुप्ता ने कहा कि राज्य सरकार की सलाह पर, सीआईआई राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में जीएसटी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर रहा है।

सीआईआई ने पिछले डेढ़ साल में जयपुर, जोधपुर और अब उदयपुर में 1200 उद्योग सदस्यों को कवर करने वाले 6 सत्रों का आयोजन किया है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार ने जीएसटी पर प्रश्नों के समाधान के लिए एकजीएसटी क्यूरी आईडी और जीएसटी पर सवालों के समाधान के लिए टोल फ्री नंबर शुरू कर दिया है। ईमेल आईडी प्रभावी रूप से काम कर रही है और नियमित रूप से वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा इस पर जवाब दिए जा रहे हैं। उद्योगों को इसहेल्पलाइन और टोल फ्री नंबर का उपयोग करना चाहिए। उन्होंने बताया कि सीआईआई उद्योगों को इस बदलाव के लिए तैयार करने में मदद कर रहा है, और आगामी चुनौतियों के लिए अपने उद्योग सदस्यों के लिए 100 से अधिक सत्रआयोजित किए जा रहे हैं। सीआईआई ने 24 गुणा 7 सहायता डेस्क भी लॉन्च किया है जिसमें सीआईआई उद्योग के सदस्य जीएसटी से संबंधित प्रश्न पूछ सकते हैं।

उदयपुर चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (यूसीसीआई) के अध्यक्ष हंसराज चैधरी ने कहा कि जीएसटी भारत का सबसे महत्वपूर्ण कर सुधार है। जीएसटी ने वस्तुओं और सेवाओं के एक सामंजस्यपूर्ण राष्ट्रीय बाजार में शुरुआत की हैऔर एक सरलीकृत, निर्धारित-अनुकूल कर प्रशासन प्रणाली की ओर अग्रसर है।

यूसीसीआई के माननीय महासचिव केजरी अली ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। उनके अनुसार जो किसी भी प्रकार के व्यवसाय में लगे हुए हैं और व्यवसायिक घरों का एक आदर्श हिस्सा बनना सीखना चाहते हैं, उन सभी लोगों के लिएप्रक्रियात्मक आवश्यकताओं को समझने और उनके प्रश्नों के समाधान का यह एक अवसर था। ओपन हाउस के दौरान बड़ी संख्या में प्रश्न और उत्तर सामने आए, जिनका अधिकारियों ने बहुत अच्छा जवाब दिया।

कार्यक्रम में मीनल भोसले, आईआरएस, ओएसडी-फाइनेंस, राजस्थान सरकार सीआईआई राजस्थान के सदस्य अरविंद सिंघल, मुख्य संरक्षक, यूसीसीआई सुकेत सिंघल सहितं केंद्र और राज्य सरकार के वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भीउपस्थित थे।ई-मित्र को जीएसटी सुविधा केंद्रों में परिवर्तित किया जा रहा है - वित्त सचिव प्रवीण गुप्ता

युवाओं के सुनहरे भविष्य को लेकर सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध-श्रीमती माहेश्वरी

उदयपुर,4 जुलाई/ युवाओं के सुनहरे भविष्य को लेकर सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। युवाओं के कौशल को निखारने एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार ने विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम व योजनाएं प्रारंभ की है तथाप्रशिक्षण पश्चात उन्हें योग्यतानुसार रोजगार प्रदान करने को लेकर रोजगार मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

यह विचार उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने बुधवार को मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय के एफ.एम.एस. परिसर में राजस्थान सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा आयोजित रोजगार मेले के शुभारंभ अवसरपर बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किए। इस अवसर पर सुखाडिया विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जे पी शर्मा, एसडीएम श्री लोकबन्धु भी मौजूद थे।

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि आधुनिक तकनीक का प्रयोग करते हुए राजस्थान सरकार ने अपनी विभिन्न योजनाओं को डिजिटलाइज किया है। यही वजह है कि प्रत्येक की योजना की क्रियान्विति में पूरी तरह से पारदर्शिता आई है योजनाओंका लाभ सीधे ही लाभार्थियों को मिलने लगा है।

युवाओं को आईटी के क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए इस जॉब फेयर का आयोजन कर राज्य सरकार के आईटी विभाग ने एक अलग ही पहल की है। इससे युवाओं के लिए एक ही प्लेटफॉर्म पर कई विकल्प उपलब्ध हो रहे हैं। राज्यका डिजीटाइजेशन में प्रदर्शन को देखते हुए मुख्यमंत्री को पिछले दिनों दिल्ली में सम्मानित किया गया।

श्रीमती माहेश्वरी ने कहा कि ई गवर्नेंस ने प्रदेश की तस्वीर को बदल कर रख दिया है। योजनाओं को आईटी से जोड़ा जाकर लाभार्थियों को इसका सीधा लाभ उनके खाते में मिलने से पारदर्शिता आई है। वहीं 51 हजार से ज्यादा ईमित्र पर 400 से ज्यादा सेवाएं उपलब्ध हैं। आमजन की समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए सम्पर्क पोर्टल से शिकायत का समयबद्ध निवारण तथा शिकायतकर्ता को इसकी सूचना दी जाती है। योजनाएं अब कागजों में न रहकर हर तबकेके लिए वरदान साबित हुई है। भामाशाह योजना से डेढ़ करोड़ परिवार जुड़े हंै और लाभार्थी को इसका लाभ सीधे मिलने लगा है। इससे भरोसेमंद और पारदर्शी प्रशासन देने में सफलता मिली है।

सुखाडिया विश्वविद्यालय के कुलपति श्री शर्मा ने मेले में आये सभी युवाओ का उत्साहवर्धन किया तथा वर्तमान में आईटी के महत्व पर प्रकाश डाला। एसडीएम. श्री लोकबन्धु ने इस रोजगार मेले में विभाग के सभी अधिकारियोएवं कर्मचारियों के सक्रिय योगदान के लिए सराहना की तथा इस प्रकार के जॉब फेयर को युवाओं के लिए महत्वपूर्ण बताया।

संभागीय आयुक्त व कलक्टर ने किया मेले का अवलोकन

इस मौके पर संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा एवं जिला कलक्टर बिष्णुचरण मालिक ने मेले का अवलोकन कर चयनित युवाओं को शुभकामनाएं प्रदान की। साथ ही मुख्यमंत्री द्वारा कौशल विकास के क्षेत्र में किये गयेनवाचारों के साथ युवाओं के बेहतर भविष्य के लिए जॉब फेयर की महत्ता बताते हुए सरकार द्वारा उपलब्ध करवाए प्लेटफार्म की सराहना की।

इस अवसर पर विभाग के ओएसडी रामचरण शर्मा, तकनीकी निदेशक सुनील छाबड़ा, संयुक्त निदेशक श्रीमती ज्योति लुहाडिया, राजेश सैनी, बिशाल चक्रवर्ती व पंकज सुथार मौजूद रहे। संयुक्त निदेशक श्रीमती लुहाडिया ने बताया की राज्यस्तरीय डिजिफेस्ट कार्यक्रम में भी रोजगार मेले का आयोजन 25-26 जुलाई को बीकानेर में किया जाएगा। जिसमें देश के अनेक भागो से विभिन्न क्षेत्रो की कंपनिया भाग लेगी जिसमें राज्य अनेक युवाओ को लाभ मिलेगा।

रोजगार पाकर खिले युवाओं के चेहरे

आईटी उपनिदेशक शीतल अग्रवाल ने बताया कि मेले 15000 से अधिक युवाओ ने ऑनलाइन रजिस्टर किया जिसमें से 5500 से अधिक युवाओ ने भाग लिया तथा 130 कंपनिया मौके पर उपस्थित रही। मेले में राजस्थान के विभिन्नक्षेत्रो में कार्यरत आईटी कंपनियों द्वारा 1500 से अधिक युवाओं का मौके पर ही चयन कर नियुक्ति प्रदान की गयी। जॉब फेयर में भाग लेने वाली कंपनियों द्वारा 2000 से अधिक युवाओ को अगले स्तर के इंटरव्यू के लीये शोर्टलिस्ट किया।

41 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम सम्पन्न

उदयपुर,28 जून/ आईसीआईसीआई ग्रामीण उद्यमिता प्रशिक्षण संस्थान उदयपुर के ऋषभदेव सेटेलाइट सेन्टर पर आयोजित 41 दिवसीय वुमेनटेलर एवं मोटर रिवाइण्डिंग प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन गुरुवार को हुआ।समारोह के अतिथि भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबन्धक गोपीनाथ, स्थानीय नियोक्ता गजेन्द्र, आईसीआईसीआई ग्रामीण उद्यमिता प्रशिक्षण संस्थान उदयपुर से रोजगार समन्वयक शरद माथुर एवं ऋषभदेव सेटेलाइट सेन्टर केप्रशिक्षण समन्वयक संदीप पाटील आदि ने अपने अनुभव साझा किए। तत्पश्चात् सभी प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र एवं टूलकिट वितरित किये गये।

12वें सांख्यिकी दिवस के उपलक्ष में श्रमदान, रक्तदान एवं कार्यशाला 29 को

उदयपुर,28 जून/12वें सांख्यिकी दिवस के उपलक्ष्य में आर्थिक एवं सांख्यिकी अधिकारी, कर्मचारी संघ, उदयपुर के तत्वाधान में 29 जून को प्रातः 7 बजे गोवर्धनसागर पाल पर श्रमदान एवं सफाई कार्य किया जायेगातथा प्रातः 8.30 बजे आरएनटी मेडिकल काॅलेज परिसर में रक्तदान शिविर आयोजित किया जायेगा।

आर्थिक एवं सांख्यिकी उप निदेशक पुनीत शर्मा ने बताया कि सांख्यिकी एवं कार्यक्रम मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार जिला स्तर पर इसी दिन प्रातः 10 बजे ’’सरकारी सांख्यिकी में गुणवत्ता का आश्वासन’’विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा। कार्यशाला में विषय विशेषज्ञ के रूप में प्रोफेसर एन. के. दशोरा अपना वक्तव्य प्रदान करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जनार्दनराय नागर राजस्थान विद्यापीठ कुलपति प्रो. एस. एस.सारगंदेवोत करेंगे। कार्यशाला में विभिन्न विश्वविद्यालयों के सांख्यिकी विशेषज्ञ विभागीय अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहेंगे।

न्याय आपके द्वार: शुक्र को 8 स्थानों पर लगेंगे शिविर

उदयपुर,28 जून/ राजस्व लोक अदालत अभियान के तहत शुक्रवार 29 जून को 8 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर शिविर आयोजित होंगे। जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक ने बताया कि मावली के फोलोअप मावली,वल्लभनगर के खेरोदा, लसाड़िया के लसाड़िया, सलुम्बर के गुडेल, सराड़ा के सराड़ा, खेरवाड़ा के खेरवाड़ा, झाड़ोल के काड़ा तथा गोगुन्दा के ढुण्ढी में शिविर लगेंगे।

प्रधानमंत्री के जयपुर कार्यक्रम को लेकर गृहमंत्री ने ली बैठक

विधानसभावार लाभार्थियों की सूची तैयार करने के दिए निर्देश

उदयपुर,28 जून/ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 7 जुलाई को जयपुर में होने वाले राज्य स्तरीय कार्यक्रम में भाग लेने हेतु जिले से लगभग 10 हजार लाभार्थी जयपुर जाएंगे। विभिन्न फ्लेगशिप योजनाओं के इन लाभार्थियोंका चिन्हीकरण को लेकर गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में विभिन्न विभागीय अधिकारियों की बैठक ली। इस अवसर पर जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल, नगर निगम मेयर चन्द्रसिंह कोठारी,खेरवाड़ा विधायक नानालाल अहारी, सलूम्बर विधायक अमृतलाल मीणा, मावली विधायक दलीचंद डांगी, जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक, नगर निगम आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

श्री कटारिया ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से जुड़े विभागों के विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे लाभार्थियों की सूची विधानसभावार तैयार कर संबंधित विधायकगण को उपलब्ध कराएं एवं विधायकों सेसमन्वय स्थापित करते हुए कार्यक्रम स्थल तक लाभार्थियों की पहुंच को लेकर हरसंभव व्यवस्थाओं के पुख्ता इंतजाम की बात कही। गृहमंत्री ने जिले से जाने वाले विभिन्न योजनाओं के लिए लाभार्थियों का चयन, उन्हें लाने-लेजाने, उनके आवास, कार्यक्रम में शिरकत आदि की व्यवस्थाओं को लेकर भी विस्तार से चर्चा की एवं आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

कलक्टर श्री मल्लिक ने बताया कि ऐसा संभवतः पहली बार है कि विभिन्न राजकीय योजनाओं के लाभार्थियों की राज्य स्तरीय सभा को प्रधानमंत्री संबोधित करेंगे और योजनाओं से मिले फायदों के बारे में उनसे सीधासंवाद करेंगे। फ्लेगशिप योजनाओँ से लाभ प्राप्त करने वाले जिले के चुनिंदा निवासियों को इस कार्यक्रम में सम्मिलित होकर अपनी बात प्रधानमंत्री के समक्ष रखने का अवसर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिला परिषद सीईओकमर चैधरी को इस कार्य के लिए नोडल अधिकारी बनाया गया है। अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन छोगाराम देवासी एवं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी मन्नालाल रावत इस कार्य में उनका सहयोग करेंगे।

इन योजनाओं के लाभार्थी जाएंगे जयपुर

कार्यक्रम में जिले से उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व शहरी, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य योजना, स्कूटी वितरण योजना, पालनहार योजना, तीर्थयात्रा योजना, श्रमिककार्ड योजना, स्किल इंडिया, मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान ग्रामीण, मुद्रा योजना  एवं कृषि ऋण माफी योजना लाभार्थी भाग लेंगे।

नगर निगम में सफाईकर्मियों की भर्ती की लाॅटरी निकाली

उदयपुर,28 जून/ उदयपुर नगर निगम में सफाई कर्मियों की भर्ती हेतु गुरुवार को भर्ती समिति की देख-रेख में लाॅटरी निकाली गई। हाईकोर्ट के निर्देश के अनुसार भर्ती के परिणाम को सीलबंद लिफाफे में कोषाधिकारीकार्यालय में सुरक्षित रखवाया गया है। पारदर्शिता के लिए नगर निगम परिसर में दो बड़ी एलसीडी के माध्यम से लाॅटरी प्रक्रिया का सीधा प्रसारण किया गया। प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों एवंअभ्यर्थियों के समक्ष परिणाम को सीलबंद किया गया। इस अवसर पर मेयर चन्द्रसिंह कोठारी, डिप्टी मेयर लोकेश द्विवेदी, भर्ती समिति अध्यक्ष एवं जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक, नगर निगम आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग,स्थानीय निकाय उपनिदेशक प्रभा गौतम, राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य मुरलीमनोहर बंधु सहित अन्य पार्षदगण एवं अधिकारी मौजूद रहे।

परिवार नियोजन के लिए मोबिलाइजेषन पखवाड़ा 27 से

उदयपुर 26 जून/ जिले में परिवार कल्याण कार्यक्रम के अन्तर्गत मोबिलाइजेशन पखवाड़ा 27 जून से 10 जुलाई तक मनाया जायेगा। राज्य सरकार के निर्देशानुसार इस अवधि में जनसंख्या स्थिरता एवं जनजागरूकता के उद्देश्य से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभागद्वारा सम्पूर्ण जिले में इसकी तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। जिलें में एएनएम, आशा एवं आॅगनवाडी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर योग्य दम्पतियों से सम्पर्क कर परिवार सीमित रखने, लडके-लडकियों का विवाह सही उम्र में करने, विवाह के पश्चात् कम सेकम 2 वर्ष बाद बच्चा एवं दो बच्चों के बीच में कम से कम तीन वर्ष का अन्तराल रखने, प्रसव पश्चात् परिवार कल्याण सेवाओं, पुरूष की परिवार नियोजन में सहभागिता तथा पीपीआईयूसीडी की सेवाओं के प्रति जनजागृति की जानकारी दी जाएगी।

अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. रागिनी अग्रवाल ने बताया कि मोबिलाईजेशन पखवाडे के दौरान योग्य दम्पतियों का सर्वेकर चिन्हित करते हुये परिवार कल्याण के स्थाई एवं अस्थाई साधनों के बारे में जानकारी दी जायेगी।आगामी 11जुलाई से 24 जुलाई 2018 तक चिकित्सा विभाग द्वारा चलाये जाने वाले जनसंख्या स्थिरता पखवाडे़ में नसबंदी व आईयूडी निवेशन के लिये आयोजित होने वाले शिविरों में में योग्य दम्पतियों को लाने के भी निर्देश दिये गये है।

लोक कला मण्डल में प्रशिक्षण के लिए आवेदन 29 तक

         उदयपुर,26 जून/ भारतीय लोक कला मण्डल, में लोक नृत्य, लोक गायन, लोक वादन एवं कठपुतली निर्माण के प्रशिक्षण के लिए 29 जून तक अपना आवेदन आमंत्रित किए गए है।

संस्था के मानद सचिव रियाज़ तहसीन ने बताया कि कला मण्डल में आगामी 2 जुलाई से  प्रतिदिन लोक नृत्य, लोक गायन, लोक वादन एवं कठपुतली निर्माण की कक्षाएं लगेगी।

निदेशक डाॅ. लईक हुसैन ने बताया कि भारतीय लोक कला मण्डल उदयपुर विगत 67 वर्षो से भारत की लोक कलाओं का प्रचार- प्रसार करता आ रहा है और अपने इसी उद्धेश्य से संस्था में यह  कार्यक्रम आयोजित होगा। उन्होन बताया कि प्रतिदिन शाम 4 से 5 बजेके मध्य संस्था परिसर में प्रशिक्षण दिया जाएगा, जो वर्ष भर चलेगा। वर्ष के अन्त में प्रशिणार्थियों को मंच पर प्रस्तुति का अवसर प्रदान किया जाएगा तथा उन्हें प्रशिक्षण का प्रमाण- पत्र भी प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री का 7 जुलाई को जयपुर में कार्यक्रम

जिले से लगभग 10 हजार लाभार्थी जाएंगे जयपुर

विभिन्न फ्लेगशिप योजनाओं के लाभार्थियों का चिन्हीकरण प्रारम्भ

उदयपुर,26 जून/ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 7 जुलाई को जयपुर में होने वाले राज्य स्तरीय कार्यक्रम में भाग लेने हेतु जिले से लगभग 10 हजार लाभार्थी जयपुर जाएंगे। विभिन्न फ्लेगशिप योजनाओं के इन लाभार्थियों का चिन्हीकरण का कार्य प्रारम्भ कर दियागया है। जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे जल्द से जल्द लाभार्थियों की सूची बनाएं।

          जिला कलक्टर ने बताया कि ऐसा संभवतः पहली बार है कि विभिन्न राजकीय योजनाओं के लाभार्थियों की राज्य स्तरीय सभा को प्रधानमंत्री संबोधित करेंगे और योजनाओं से मिले फायदों के बारे में उनसे सीधा संवाद करेंगे। फ्लेगशिप योजनाओँ सेलाभ प्राप्त करने वाले जिले के चुनिंदा निवासियों को इस कार्यक्रम में सम्मिलित होकर अपनी बात प्रधानमंत्री के समक्ष रखने का अवसर दिया जाएगा। उन्होने बताया कि जिला परिषद सीईओ कमर चैधरी को इस कार्य के लिए नोडल अधिकारी बनाया गया है।अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन छोगाराम देवासी एवं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी मन्नालाल रावत इस कार्य में उनका सहयोग करेंगे।

इन योजनाओं के लाभार्थी जाएंगे जयपुर

उज्ज्वला योजना के 1500, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के 2000 व शहरी के 300, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के 500, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य योजना, स्कूटी वितरण योजना केे 200, पालनहार योजना के 1000, तीर्थयात्रा योजना के 100, श्रमिक कार्डयोजना के 1500, स्किल इंडिया के 300, मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान ग्रामीण के 300, मुद्रा योजना के 2000 एवं कृषि ऋण माफी योजना के 100 लाभार्थियों को जयपुर में होने वाले कार्यक्रम में ले जाया जाएगा। लाभान्वितों की संख्या काफी बड़ी है जिनमें सेलगभग 10 हजार लाभार्थियों का कार्यक्रम हेतु चिन्हीकरण किया जा रहा है।

विकास एवं लोककल्याण के कार्यांे में पूर्ण जवाबदेही

एवं गंभीरता से कार्य करें-गंगवार

उदयपुर,26 जून/ स्कूली शिक्षा एवं भाषा विभाग के प्रमुख शासन सचिव नरेशपाल गंगवार ने संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा एवं उदयपुर संभाग के जिला कलक्टर्स व महत्वपूर्ण विभागों के अधिकारियों की बैठक में मुख्यमंत्री की घोषणाओं कीक्रियान्विति में पूर्ण गंभीर होकर कार्य करने के निर्देश दिये।

          संभागीय आयुक्तालय सभागार में मंगलवार को आयोजित इस बैठक में श्री गंगवार ने कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणाएं राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में है। ऐसे में विभाग तत्काल स्वीकृत करवाकर कार्याें को मूर्तरूप प्रदान करने के लिए समय सीमातय करते हुए अंजाम दें। जिला कलक्टर्स घोषणाओं की क्रियान्विति का फाॅलोअप कर प्रगति से सतत् रूप से अवगत करायंे।

प्रधानमंत्री कार्यक्रम के लिए लाभार्थियों का चयन

          श्री गंगवार ने आगामी 7 जुलाई को माननीय प्रधानमंत्री के जयपुर दौरे के अवसर पर विभिन्न जिलों से भाग लेने वाले विभिन्न योजनाओं के लिए लाभार्थियों का चयन, उन्हें लाने-ले जाने, उनके आवास, कार्यक्रम में शिरकत व प्रजेंटेशन को लेकरविभिन्न स्तरीय दायित्वों के लिए पर्याप्त समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिये। संभागीय आयुक्त श्री देथा ने इसके लिए पृथक से प्रशिक्षण कराने के भी निर्देश दिये। उन्होंने लाभार्थियों के भाग लेने संबंधी सूचना 30 जून तक उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

सड़कों का सर्वे हो

          श्री गंगवार ने सभी जिलों में सड़कों के सुदृढ़ीकरण के मद्देनजर व्यापक सर्वे करते हुए स्वीकृतिशुदा सड़क कार्यो एवं प्रस्तावित कार्यो की जानकारी उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने विद्यालय भवनों के बाउण्ड्रीवाल बनवाने को भी महत्वपूर्ण बताया। उन्होंनेकई माॅडल विद्यालयों के बाउण्ड्रीवाल का कार्य बकाया होने की जानकारी दी।

खेल अकादमियों के लिए समग्र प्रयास करें

          प्रमुख शासन सचिव ने जिलों में फुटबाॅल अकादमी, बांसवाड़ा में तीरन्दाजी अकादमी की स्थापना के लिए प्रभावी माॅडल तैयार करने पर जोर दिया। उन्होंने खेल प्रतिभा को तराशने के लिए पूर्ण संसाधनयुक्त अकादमियों के लिए जिलों में स्थितऔद्योगिक घरानों का सहयोग लेकर कार्य करने की बात कही।

जवाबदेही तय हो

          श्री गंगवार ने सरकार के स्तर पर होने वाली वीसी अथवा बैठकों के लिए सभी विभागों को क्षेत्रीय समस्याओं के निराकरण व प्रगति पर चर्चा को लेकर अधिकारी स्तर पर जवाबदेही तय करने की बात कही। इसके लिए उन्होंने विभागों को पर्याप्त होमवर्ककरने पर भी जोर दिया।

शिक्षकों के रिक्त स्थानों पर ज्वाइनिंग हो

          श्री गंगवार ने बताया कि सरकार शिक्षा विभाग के रिक्त षिक्षक के पदों को भरने पर गंभीर है ऐसे में सरकार के पदस्थापन आदेशों की गंभीरता से पालना सुनिश्चित की जाये।

          शाला दर्पण का फीडबैक ले

          श्री गंगवार ने कलक्टर्स को निर्देश प्रदान किये कि शाला दर्पण की जानकारियों के बारे में डीईओ से फीडबैक ले ताकि वांछित सामग्री की विद्यालयों के लिए उपलब्धता का मार्ग प्रशस्त हो।

बैठक में जिलों में संचालित विभिन्न योजनाओं, राजस्व शिविर एवं मुख्यमंत्री की घोषणाओं की क्रियान्विति को लेकर विस्तार से चर्चा हुई।

          बैठक में जिला कलक्टर बिष्णुचरण मल्लिक (उदयपुर) इन्द्रजीत सिंह (चित्तौड़गढ़), भंवरलाल मेहरा (प्रतापगढ़) आनन्दी (राजसमन्द), राजेन्द्र भट्ट (डूंगरपुर), भगवतीलाल कलाल (बांसवाड़ा), उदयपुर जिला परिषद सीईओ कमर चैधरी, गिर्वा केउपखण्ड अधिकारी लोकबन्धु, हर्ष सावनसुखा, अतिरिक्त संभागीय आयुक्त श्रीमती विनीता बोहरा, नगर विकास प्रन्यास सचिव रामनिवास मेहता, मुख्य वन संरक्षक आईपीएस मथारू, संभागीय आयुक्त कार्यालय नियोजित एसीईओ राधेश्याम, सहित सभीजिलों से आए वरिष्ठ प्रशासनिक एवं विभागीय अधिकारीगण ने बैठक में जिले की विभिन्न गतिविधियों से अवगत कराया।

रेडियोलोजिकल इमेजिंग मे अत्याधुनिक तकनीक व क्लिनिकल उपयोग’ पर व्याख्यान

रेडियाडायग्नोसिस में नवाचारों को अपनाएं-डॉ. तुषार

उदयपुर,25 जून/ आरएनटी मेडिकल कॉलेज में रेडियोलोजी विभाग एवं शूरवीर सिंह ट्रस्ट के तत्वावधान में सोमवार को रेडियोलोजी विषय पर सेमिनार का आयोजन हुआ, जिसमें वरिष्ठ रेडियोलोजिस्ट विशेषज्ञ डॉ. तुषार चन्द्रा ने ‘रेडियोलोजिकल इमेजिंगमे अत्याधुनिक तकनीक एवं क्लिनिकल उपयोग’ विषय पर व्याख्यान दिया। डॉ.चन्द्रा ने इमेजिंग की गुणवत्ता सुधारने मे वर्चुअल रिएलिटी की भूमिका एवं भविष्य मे 7 टेस्ला एम.आर.आई. के उपयोग एवं इमरजेंसी व दूरस्थ स्थान पर मोबाइल फोन सोनोग्राफीपर भी प्रकाश डाला। डॉ. तुषार वर्तमान मे अमेरिका की सेन्ट्रल फ्लोरिडा यूनिवर्सिटी के रेडियोडायग्नोसिस विभाग मे एसोसियेट प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं। ज्ञातव्य है कि डॉ. तुषार ने स्नातक स्तर की पढ़ाई (एमबीबीएस) उदयपुर के आर.एन.टी. मैडिकल कालेजसे ही की है।

आरएनटी मेडिकल कालेज के अतिरिक्त प्रिंसिपल एवं ट्रस्ट समन्वयक डा. ललित रैगर ने सभी का स्वागत किया एवं डॉ.ए.के.वर्मा (अतिरिक्त प्रिंसिपल) ने अध्यक्षता की। कार्यक्रम में डॉ. नरेन्द्र कर्दम (विभागाध्यक्ष रेडियोडायग्नोसिस विभाग), डॉ.लाखन पोसवाल (आरएमसीटीए अध्यक्ष), डॉ. कुशल गहलोत एसोसिएट प्रोफेसर (रेडियोडायग्नोसिस विभाग), डॉ.रामबीर सिंह असिस्टैंट प्रोफेसर (रेडियोडायग्नोसिस),डॉ.डी.सी.शर्मा (एन्डोकराएनोलोजिस्ट) सहित विभिन्न विभागों के प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर,असिस्टेंट प्रोफेसर व रेजिडेन्ट चिकित्सक उपस्थित रहे। डॉ.ललित रैगर (अतिरिक्त प्रिंसिपल) ने डॉ तुषार चन्द्रा को स्मृति चिन्ह व प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया तथा शूरवीर सिंह ट्रस्ट के मेनेजिंग ट्रस्टी डॉ. डी. सी. शर्मा ने आभार जताया।

शहर के पहले राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय में प्रवेश शुरू

उदयपुर,25 जून/ उदयपुर के जोगी तालाब, साउथ ऐक्सटेंशन में प्रारंभ हुए राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। यह उदयपुर का पहला सरकारी पॉलिटेक्निक महाविद्यालय है जहां प्रारम्भ में इलेक्ट्रिकल, सिविल एंवमेकेनिकल इन्जिनिरिंग के डिप्लोमा पाठयक्रम चलाये जाएंगे। तीनों पाठ्यक्रम की ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है जिसकी अंतिम तिथि 9 जुलाई तक है।

महाविद्यालय प्राचार्य सैयद इरशाद अली ने बताया कि आवेदन राजस्थान सरकार के पंजीकृत उच्च एंव तकनिकी शिक्षा विभाग के पोर्टल एंव विभागीय वेबसाईट पर किये जा सकते है तथा विस्त्रृत जानकारी प्राप्त कर सकते है। प्रवेश की कोई आयु सीमानहीं है तथा न्यूनतम योग्यता 10वीं परीक्षा उत्तीर्ण होना जरूरी है।  प्रवेश फीस 12500 रूपये वार्षिक है जिसे अभ्यर्थी दो किश्तों में जमा करा सकता हैं। प्रवेश में नियमानुसार आरक्षण उपलब्ध है तथा छात्राओं को शिक्षण शुल्क 4150 रुपये माफ है।

गृहमंत्री ने लांच किया मेयर का वीडियो

शहर के प्रथम नागरिक ने सभी शहरवासियां को स्वस्थ रहने का किया आह्वान

उदयपुर 25 जून/ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्द्वन सिंह राठौड़ के देशवासियों को अपना फिटनेस वीडियो बनाकर सोशियल मीडिया में डालने के चेलेंज को उदयपुर नगर निगम के महापौर चन्द्रसिंह कोठारी ने स्वीकार करते हुए अपनेवर्कआउट का एक वीडियो बनाया जिसका विमोचन गृहमंत्री गुलाब चन्द कटारिया ने फतहसागर की पाल पर किया।

इस अवसर पर मेयर कोठारी ने प्राचीन आयुर्वेद के सिद्वान्तों पर प्रकाश डालते हुए आयुर्वेद में व्यक्ति के बीमार न होने पर जोर देते हुए नियमित दिनचर्या, ऋतचर्या को अपनाकर अच्छे स्वास्थ्य के लिए नियमित योग व व्यायाम की सलाह दी। उन्होनेपहला सुख निरोगी काया के महत्व बताते हुए योग को स्वस्थ जीवन का आधार बताया। उन्होंने कहा कि नियमित योग करने वाला व्यक्ति सदैव स्वस्थ रहता है और बीमारियां उससे कोसों दूर रहती है। इस अवसर पर वैद्य शोभालाल औदिच्य, वैद्य संजय माहेश्वरी,जैन सोशियल ग्रुप मेवाड़ रीजन के पदाधिकारी, उदयपुर इन्टरनेट मार्केंटंग के ऐश्वर्य पलोड़ व शहर के कई गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। यह वीडियो बनाने में तकनीकी सहयोग उदयपुर इन्टरनेट मार्केटिंग के ऐश्वर्य पलोड़ ने दिया।

News

नंदी गौशाला जनसहभागिता योजना को लेकर बैठक सम्पन्न

10 जुलाई तक मांगे प्रस्ताव

उदयपुर, 20 जून/मुख्यमंत्री की बजट घोषणा 2018-19 के क्रम में नंदी गौशाला जन सहभागिता योजनान्तर्गत जिले में नंदी गौशाला खोलने के संबंध में गौशाला, संस्थाओं, भामाशाह, गणमान्य नागरिक, दानदाता व पशुप्रेमियों की बैठक अतिरिक्त जिला कलक्टर सी आर देवासी की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) सुभाषचन्द्र शर्मा भी मौजूद थे। इसके लिए गौशालाओं एवं संस्थाओं से 10 जुलाई तक आवेदन मांगे गये हैं।

श्री देवासी ने बताया कि सार्वजनिक स्थल और सड़कों पर बढ़ते निराश्रित गौवंश व नन्दियों की समस्या से राहत देने के लिये जिलें में नन्दी गौशाला के लिए सरकार की ओर से 50 लाख रुपयो की आर्थिक सहायता दी जाएगी। नन्दी गौशाला खोलने वाली स्वयंसेवी संस्था या गौशाला द्वारा 30 फीसदी काम करके उसका सत्यापन कराने पर यह सहायता राशि प्रदान की जाएगी। नन्दी गौशाला खोलने के लिये संस्थाएं पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक कार्यालय से सम्पर्क कर सकती है। नन्दी गौशाला की क्षमता 500 या इससे अधिक सांड व बैलों की होगी।

श्री देवासी ने बताया कि जिले में प्रशासन की ओर से गिर्वा पंचायत समिति की नाई ग्राम पंचायत के चोकडि़या ग्राम में 300 बीघा जमीन पर गौशाला निर्माण के प्रस्ताव सरकार को प्रेषित किये गये है।

बैठक में विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने सुझाव दिया कि न्यूनतम 25 बीघा भूमि की उपलब्धता के नियम में शिथिलता दी जानी चाहिए। जिले का अधिकांश क्षेत्र पहाड़ी क्षेत्र होने से 25 बीघा भूमि मिल पाना संस्थाओं एवं गोशालाओं के लिए मुश्किल है। इस पर एडीएम ने राज्य सरकार को पत्र लिखकर आग्रह करने का आश्वासन दिया।

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. ललित जोशी ने बताया कि मुख्यमंत्री की हर जिलें में नन्दी गौशाला खोलने की घोषणा वर्ष 2018-19 के क्रम में नन्दी गौशाला खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी हैं जिसमें सांड, बैल और नर बछड़ो के रख रखाव व पालन पोषण की व्यवस्था की जाएगी। इस नन्दी गौशाला का संचालन वे ही संस्थाएं या गौशाला कर सकेगी जिनके पास स्वयं के स्वामित्व की भूमि या सक्षम स्तर से 10 साल के लिये लीज पर भूमि उपलब्ध होगी।

नन्दी गौशाला संचालन करने वाली स्वंयसेवी संस्था या गौशाला राजस्थान गौशाला अधिनियम 1960 या राजस्थान सोसायटी अधिनियम 1958 के तहत रजिस्टर्ड होना जरूरी है।